Happy Independence Day Essay in English, Hindi for the School Kids

“At the stroke of the midnight hour, when the world sleeps, India will awake to life and freedom. A moment comes, which comes but rarely in history, when we step out from the old to the new…India discovers herself again.” – Jawaharlal Nehru

The republic of India gained its independence from the rule of the British on 15 August 1947. Since then, this date of 15 August is celebrated as the Independence Day in India to commemorate its freedom from the 200-year-old British government. The republic of India gained its independence from the rule of the British on 15 August 1947. Here we providing some Independence Day Essay in English, Hindi.

Independence Day Essay in English

Since then, this date of 15 August is celebrated as the Independence Day in India to commemorate its freedom from the 200-year-old British government.Here are some independence Day Essay in English.

Independence Day Essay 1
The 15th of August is a very important day in the history of our country – India. It was on this day in 1947 that India became independent. We won freedom after a hard struggle. On this day our first Prime Minister Pundit Jawaharlal Nehru unfurled The National Flag at The Red Fort for the first time. All the people irrespective of their caste, look and creed celebrate this day every year amidst great rejoicing. It is declared a public holiday. On this day we take a pledge to defend our freedom with all our might.

The Independence Day is celebrated all over India with great joy. People hold meetings. Fly the tricolor and sing the national anthem. There are great enthusiasms among them. In Delhi, the capital of India, this day is celebrated with great pomp and show. People gather in large numbers into the parade ground in front the red fort. There is a great hustle and bustle everywhere. They line up the roads all leading to the fort and eagerly wait for the arrival of the Prime Minter.

See also  Things that People Consider for Good Indian Girl

The foreign ambassadors and dignitaries also participate in the celebrations. The prime minster unfurls the national flag. A guard of honor is given by the local police and armed forces personnel. A salute of 21 guns is fired. The military band plays the national anthem. The Prime Minister greets the ambassadors seated at the parapet and delivers a speech. Homage is paid to those who sacrificed their lives for the freedom of our country. After the Prime Minister’s speech, the functions come to an end with the recital of our national anthem, ‘Jan Gina Manna’ and the crowd begins to melt away. The Independence Day reminds us of those patriots who fought and suffered to win freedom for us.

Independence Day Essay 2

India got independence on 15th of august in 1947, so people of India celebrate this special day every year as the Independence Day on 15th of august. In the event celebration organized in the National Capital, New Delhi the Prime Minister of India unfurled the National Flag in the early morning at the Red fort where millions of people participate in the Independence Day ceremony.

During the celebration at Red Fort, New Delhi many tasks including March past are performed by the Indian army and cultural events by the school students are performed. After the national Flag hosting and national Anthem (JANA GANA MANA) recitation, the prime minister of India gives his annual speech.

At this day, we commemorate all the great personalities who had played their important role in the independence of India. During the Independence Day celebration, the National Flags are also hosted in school and colleges where many activities are performed by the teachers and students.
Independence Day Essay in English, Hindi

Independence Day Essay in Hindi

Hello everyone. Wish you a very Happy Independence Day 2015 and here we want to tell you that we are here to Provide you Independence Day Essay in Hindi.

See also  Things that all Indian Girls get to Hear in Their Families

Independence Day Essay 1

भारत 15 अगस्त को ब्रिटिश राज, 1947 इसलिए, हम हर साल अगस्त की 15 तारीख को हमारी स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाने से अपनी स्वतंत्रता मिली। स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय अवकाश है।

हम सभी को स्वतंत्रता मुक्त नहीं है कि पता है। यह स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए हमारे राष्ट्रीय स्वतंत्रता सेनानी द्वारा प्रयासों, अहिंसा और अन्य आंदोलन की साल लग गए। 15 अगस्त 1947 को, पंडित जवाहर लाल नेहरू ने लाल किला, दिल्ली में भारत का तिरंगा राष्ट्रीय ध्वज उठाया। स्वतंत्रता दिवस पूरे देश में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। स्कूली बच्चों को सुबह बहुत जल्दी रंगीन जुलूस बाहर ले। वे भारत की महिमा गाते हैं। सेंट्रल पार्क में जुलूस अंत। राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है वहां और राष्ट्रीय गान कोरस में गाया जाता है। हर कोई देश की सेवा करने के लिए और उसके खोए गौरव को बहाल करने के लिए सब कुछ करने के लिए एक नया शपथ लेता है। बड़ों की आजादी के लिए संघर्ष में अपने जीवन का बलिदान जो शहीदों को याद है। वे हमारी स्वतंत्रता को जीतने के लिए एक बहुत का सामना करना पड़ा है जो महान नेताओं को श्रद्धांजलि अर्पित। इस दिन भी महात्मा गांधी, हमारे राष्ट्र के पिता द्वारा प्रचार किया गया था कि शांति और अहिंसा के शिक्षण का पालन करने के लिए हमें प्रेरित करती है।

स्वतंत्रता दिवस देश के लिए अपने कर्तव्य की याद दिलाता है। बैठक में एक गीत के साथ समाप्त होता है के रूप में, मिठाई सब के बीच वितरित कर रहे हैं। तो फिर हम मलिन बस्तियों के लिए जाने के लिए और गरीबों के बीच भोजन और कपड़े वितरित। हम घर वापस आते हैं तो हम बहुत खुश लग रहा है।

See also  Top Quotes and Sayings about Palm Sunday

Independence Day Essay in English, Hindi

Independence Day Essay 2

सदियों की गुलामी के पश्चात 15 अगस्त सन् 1947 के दिन आजाद हुआ। पहले हम अंग्रेजों के गुलाम थे। उनके बढ़ते हुए अत्याचारों से सारे भारतवासी त्रस्त हो गए और तब विद्रोह की ज्वाला भड़की और देश के अनेक वीरों ने प्राणों की बाजी लगाई, गोलियां खाईं और अंतत: आजादी पाकर ही चैन ‍लिया। इस दिन हमारा देश आजाद हुआ, इसलिए इसे स्वतंत्रता दिवस कहते हैं।

अंग्रेजों के अत्याचारों और अमानवीय व्यवहारों से त्रस्त भारतीय जनता एकजुट हो इससे छुटकारा पाने हेतु कृतसंकल्प हो गई। सुभाषचंद्र बोस, भगतसिंह, चंद्रशेखर आजाद ने क्रांति की आग फैलाई और अपने प्राणों की आहुति दी। तत्पश्चात सरदार वल्लभभाई पटेल, गांधीजी, नेहरूजी ने सत्य, अहिंसा और बिना हथियारों की लड़ाई लड़ी। सत्याग्रह आंदोलन किए, लाठियां खाईं, कई बार जेल गए और अंग्रेजों को हमारा देश छोड़कर जाने पर मजबूर कर दिया। इस तरह 15 अगस्त 1947 का दिन हमारे लिए ‘स्वर्णिम दिन’ बना। हम, हमारा देश स्वतंत्र हो गए।

यह दिन 1947 से आज तक हम बड़े उत्साह और प्रसन्नता के साथ मनाते चले आ रहे हैं। इस दिन सभी विद्यालयों, सरकारी कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है, राष्ट्रगीत गाया जाता है और इन सभी महापुरुषों, शहीदों को श्रद्धांजल‍ि दी जाती है जिन्होंने स्वतंत्रता हेतु प्रयत्न किए। मिठाइयां बांटी जाती हैं।

हमारी राजधानी दिल्ली में हमारे प्रधानमंत्री लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। वहां यह त्योहार बड़ी धूमधाम और भव्यता के साथ मनाया जाता है। सभी शहीदों को श्रद्धां‍जलि दी जाती है। प्रधानमंत्री राष्ट्र के नाम संदेश देते हैं। अनेक सभाओं और कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

Independence Day Essay in English, Hindi

Hope you liked Our article. So if you Liked Our article then please share it Online with your Friends. So that they can also get the Articles of independence Day Celebration. You can share simply by just clicking on the Share button provided below.